आखिर क्या खास है उत्तराखंड के इस दिव्य मंदिर में जिससे नासा के वैज्ञानिक भी हैरान है!

1
146
कसारदेवी मंदिर, - thefrend

उत्तराखंड राज्य के कुमाऊं में स्थित कसारदेवी मंदिर, अल्मोड़ा  जिले में जितने भी देवी स्थल पाए जाते है उन सबसे महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध माना जाता है |

स्वामी विवेकानंद भी जब सन १८९०(1890) में जब यहाँ आये थे तो उन्होंने अपने डायरी में कसारदेवी मंदिर स्थान का अपना अनुभव लिखा था | स्वामी जी ने कुछ दिन रुक कर यहाँ ध्यान साधना की थी |

Download App Now – http://bit.ly/thefrend128

अल्मोड़ा से करीब 22 किमी दूर काकड़ीघाट में उन्हें विशेष ज्ञान की अनुभूति हुई थी।
बाद में धीरे-धीरे  पश्चिमी देशो के लोग यहां घूमने व ध्यान करने आने लगे थे |

ऐसा भी कहा जाता है कि 1960 व 1970 के दौर में जब हिप्पी आंदोलन अपने चरम पर था तो उस समय काफी दार्शनिक व लेखक इस जगह में आना शुरू हुए और ये उनकी पसंदीदा जगह में से बनता चला गया |

इसमें  कुछ नामी लोग भी थे जैसे – टीमोथी  लेरी, विलियम्स वर्ड्सवर्थ, हरमन (जर्मन लेखक) , बॉब डैलों यहां आये थे |

 इस प्रसिद्धि से  ये कसारदेवी अपने आप में बहुत दिव्य स्थान  बनता चला गया, क्योंकि इसका जो स्थान है वह बहुत ही खूबसूरत है | यहां से पूरे हिमालय का मनोरम दृश्य आप देख सकते है और हिमालय की चोटियां  इतनी सुन्दर दिखाई देती है  कोई भी आत्मविभोर हो जाता है | 

 वैसे कसार देवी स्थान का इतिहास हज़ारो वर्ष पुराना है, कहा जाता कि  इसका जिक्र स्कन्द पुराण में भी किया गया है | इससे 40-50 कदम ऊपर एक शिव मंदिर भी है

इसका निर्माण छटवीं  शताब्दी में दक्षिण भारत के किसी रूद्र नाम के व्यक्ति थे उन्होंने यहां इसका निर्माण किया था |

 इसका प्रमाण यहां शिलालेख के रूप में मिलता हैं | इस मंदिर की देख-रेख यहां के स्थानीय लोग ही समय-समय पर करते रहते है |


कुछ वर्ष पूर्व से नासा ने भी इस जगह के ऊपर शोध और विश्लेषण कर रहे | इन शोधकर्ताओ ने यह बताया की इस स्थान  में अद्भुत चुंबकीय शक्तियां है जो ध्यान लगाने में मदद करती है | 

अमेरिका के  माचू-पिच्चू, पेरून  – यहां इंका सभ्यता के अवशेष मिले हैं जो उस वक्त एक धार्मिक नगरी थी और इंग्लैंड में एक स्टोन हैंग स्मारक, विल्टशायर (इंग्लैंड) जो की वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की सूची में शामिल यह स्मारक दुनिया के सात अजूबो में शुमार है व अल्मोड़ा का  कसारदेवी  मंदिर

ये तीनो  जगह में एक जैसी समान शक्तियां हैं जहाँ  सकारात्मक शक्तियां विद्धमान हैं और जहाँ एक  अनूठी मानसिक  शांति मिलती हैं |

Also read – कैलाश पर्वत के कुछ अनसुने रहस्य

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here